एलोवेरा जूस

एलोवेरा यानि घृतकुमारी एक चमत्कारी औषधि से कम नहीं है . एलोवेरा के पत्तो के जेल में विटामिन ए, बी2, बी३, बी6, बी12, सी और फोलिक एसिड आदि पोषक तत्व निहित है .एलोवेरा के रस में पाए जाने वाले खनिज ताम्बा लोहा सोडियम कैल्शियम जिंक पोटैशियम क्रोमियम मैग्नीशियम और मैंगनीज के अनगिनत स्वास्थ्य लाभ है . एलोवेरा न केवल लघु बीमारियों को जङ से मिटा फेकता है परन्तु बङी - बङी बीमारियों का भी जमकर सामना करता है . स्वास्थ्य विशेषज्ञ एलोवेरा को प्रकृति का सबसे प्रभावशाली और बहुमुखी जङी बूटी मानते है यह जङी बूटी दोनों ही बाह्य एवं आंतरिक उपयोग के लिए सुरक्षित है

त्रिफला जूस

त्रिफला आयुर्वेद में कई रोगों का सटीक इलाज करता है। यह 3 औषधियों से बनता है। बेहड, आंवला और हरड इन तीनों के मिश्रण से बना चूर्ण त्रिफला कहा जाता है। ये प्रकृति का इंसान के लिए रोगनाशक और आरोग्य देने वाली महत्वपूर्ण दवाई है। जिसके बारे में हर इंसान को पता होना चाहिए। ये एक तरह की एन्टिबायोटिक है। त्रिफला आपको किसी भी आयुर्वेदिक दुकान पर मिल सकता है। लेकिन आपको त्रिफला का सेवन कैसे करना है और कितनी मात्रा में करना है ये भी आपको पता होना चाहिए। हाल में हुए एक नए शोध में इस बात का खुलासा हुआ है की त्रिफला के सेवन से कैंसर के सेल नहीं बढ़ते । त्रिफला के नियमित सेवन से चर्म रोग, मूत्र रोग और सिर से संबन्धित बीमारियां जड़ से ख़त्म करती है।

आंवला जूस

आंवला में भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता हैं. और आंवले में पोटासियम ,कार्बोहायड्रेट ,फाइबर ,प्रोटीन्स ,विटामिन्स ‘ए’,’बी काम्प्लेक्स ,मैग्नीशियम ,विटामिन ‘सी’ ,आयरन,आंवला में विटामिन ‘सी’ भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं.नारंगी से २० % ज्यादा विटामिन ‘सी ‘ होता हैं और इसको गर्म करने पर भी इसकी विटामिन ख़त्म नहीं होते हैं. आंवला का रस आँखों के लिए बहुत फायदेमंद हैं. आंवला आँखों की दृष्टी को या ज्योति को बढाता हैं. मोतियाबिंद में,कलर ब्लाइंडनेस, रतोंधी या कम दिखाई पड़ता हो तो भी आंवला का जूस फायदेमंद हैं. आखों के दर्द में भी काफी फायदा होता हैं